Home How to शरद पूर्णिमा (2020) क्या है क्यों मनाया जाता है?सम्पूर्ण जानकारी!

शरद पूर्णिमा (2020) क्या है क्यों मनाया जाता है?सम्पूर्ण जानकारी!

वर्ष में कई बार पूर्णिमा आती है, लेकिन शरद पूर्णिमा का विशेष महत्व माना जाता है। आश्विन पूर्णिमा को वर्ष की सभी पूर्णिमाओं में एक विशेष चमत्कारी माना जाता है। 

शरद पूर्णिमा क्या है?

Sharad punima kya hai kab manaya jata hai
Sharad punima kya hai kab manaya jata hai

आश्विन मास शुक्ल पक्ष की पूर्णिमा को शरद पूर्णिमा कहा जाता है। शरद पूर्णिमा 30 अक्टूबर (30 OCT) यानि कल शुक्रवार को है। इस दिन स्नान दान और पूजा के लिए एक विशेष दिन माना जाता है। इस दिन 16 कलाओं वाला शरद पूर्णिमा बहुत विशिष्ट है। 

शरद पूर्णिमा क्यों मनाया जाता है?

क्योंकि यह एक महीने में दूसरा पूर्णिमा है। पहली पूर्णिमा 1 अक्टूबर को थी। यह संयोजन मलमास के कारण होता है। शरद पूर्णिमा धर्म, अध्यात्म और आयुर्वेद की दृष्टि से महत्वपूर्ण है क्योंकि ऐसा माना जाता है कि शरद पूर्णिमा की रात को चंद्रमा की किरणें हमारे शरीर और वातावरण के लिए फायदेमंद होती हैं।

शरद पूर्णिमा का शुभ मुहूर्त (SHARAD PURNIMA SHUBH MUHURAT)

शरद पूर्णिमा स्नान और पूजा करने का दिन है। शरद पूर्णिमा का शुभ मुहूर्त 30 अक्टूबर को शाम 5:45 बजे से है, जो अगले दिन 31 अक्टूबर को रात 8.18 बजे तक जारी रहेगा। शरद पूर्णिमा से देव दीपावली के लिए दीपदान शुरू होगा।

शरद पूर्णिमा की रात Immunity को बढ़ाता है

शरद पूर्णिमा की रात, चंद्रमा की किरणें औषधीय गुणों के साथ अमृत के समान हैं। इसलिए शरद पूर्णिमा की रात को खुले आसमान में खीर रखी जाती है। भोर में इसके सेवन से रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है।

ब्लू मून सी की शेष दिव्य चमक

एक धार्मिक मान्यता है कि जब एक महीने में दो पूर्ण चंद्र योग बनते हैं, तो इसे नीला चंद्रमा कहा जाता है। चंद्रमा की किरणें तेज होती हैं।

चांद की रोशनी में खीर रखने की मान्यता क्या है

एक अध्ययन के अनुसार, शरद पूर्णिमा के दिन दवाओं की स्पंदन क्षमता अधिक होती है। एक विशेष प्रकार की ध्वनि वैजेटिक्स से उत्पन्न होती है जब आंतरिक पदार्थ कर्षण के कारण ध्यान केंद्रित करना शुरू करता है। अध्ययन के अनुसार, दूध में लैक्टिक एसिड और अमृत होता है।

यह तत्व किरणों की तुलना में अधिक शक्ति का शोषण करता है। चावल में स्टार्च होने के कारण प्रक्रिया आसान हो जाती है। 

इसीलिए ऋषि-मुनियों ने शरद पूर्णिमा की रात को खुले आसमान में खीर रखने का विधान बनाया है। यह परंपरा विज्ञान पर आधारित है।

यह भी पढ़ें- Instant Loan apps- mobile से तुरंत लोन कैसे ले 2020

यह भी पढ़ें-Meesho App क्या है और इस से पैसे कैसे कमाए? सम्पूर्ण जानकारी !

यह भी पढ़ें-Top 12 Free Screen Recording Software कौन से हैं?

खीर का उपयोग करने से पहले इन बातों का ध्यान रखें

शोध के अनुसार, खीर को चांदी के बर्तन में बनाया जाना चाहिए। चांदी में उच्च प्रतिरोधकता होती है। इससे वायरस दूर रहता है। यह मान्यता है कि इस दिन प्रत्येक व्यक्ति को शरद पूर्णिमा के दिन कम से कम 30 मिनट तक स्नान करना चाहिए। 

सुबह 10 से 12 बजे तक का समय उपयुक्त है। वर्ष में एक बार, शरद पूर्णिमा की रात अस्थमा रोगियों के लिए एक वरदान के रूप में आती है। इस रात को दिव्य औषधि को खीर में मिलाकर सुबह 4 बजे चांदनी रात में सेवन किया जाता है। 

रोगी को एक रात जागरण करना पड़ता है और दवा का सेवन करने के बाद 2-3 किमी चलना फायदेमंद होता है।

यह भी पढ़ें-

Jio Fiber क्या है? Jio Fiber Plan ? सम्पूर्ण जानकारी !

Diwali kab hai- दीवाली कब है क्यों मनाई जाती है ? सम्पूर्ण जानकारी !

छत पर बगीचा (Roof Top Garden) कैसे बनाएं?

इस Post में, हमने आपको “शरद पूर्णिमा (2020) क्या है क्यों मनाया जाता है?सम्पूर्ण जानकारी!” के बारे में पूरी जानकारी दी है। आपको यह जानकारी कैसी लगी कमेंट कर के जरूर बताइये और अपने सुझाव को हमारे साथ शेयर करें ।

यदि आपको यह post पसंद आया या कुछ सीखने को मिला तब कृपया इस पोस्ट को Social Networks जैसे कि Facebook, Twitter और दुसरे Social media sites share कीजिये।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Free Digital marketing course by Google कैसे ले?

Free digital marketing course by Google Google अब एक फ्री Digital Marketing (Free digital marketing course by Google) कोर्स...

होली क्यों मनाई जाती है, होली कब है 2021- होली पर निबंध

आप होली को सभी रंगों के त्योहार के रूप में मानेंगे। लेकिन क्या आप जानते हैं कि होली मनाने का कारण क्या...

अलंकार किसे कहते हैं? परिभाषा, प्रकार और उदाहरण सम्पूर्ण जानकारी!

अलंकार किसे कहते हैं? - अलंकार का क्या अर्थ है? - अलंकार शब्द का शाब्दिक अर्थ है "आभूषण"। अलंकार...

Whatsapp ने सेट किया अपना Status (Whatsapp Own Status)

Whatsapp Set their Own Whatsapp status which is Shown on Mobile screen of each user. Whatsapp ने सेट किया...

Recent Comments

Content Protection by DMCA.com
%d bloggers like this: