Home What is अलंकार किसे कहते हैं? परिभाषा, प्रकार और उदाहरण सम्पूर्ण जानकारी!

अलंकार किसे कहते हैं? परिभाषा, प्रकार और उदाहरण सम्पूर्ण जानकारी!

0
अलंकार किसे कहते हैं? परिभाषा, प्रकार और उदाहरण सम्पूर्ण जानकारी!
अलंकार किसे कहते हैं? परिभाषा, प्रकार और उदाहरण सम्पूर्ण जानकारी!

अलंकार किसे कहते हैं? – अलंकार का क्या अर्थ है? – अलंकार शब्द का शाब्दिक अर्थ है “आभूषण”

अलंकार किसे कहते हैं

काव्यात्मक काया को अलंकृत करने वाले तत्व को अलंकार कहा जाता है।

अलंकार किसे कहते हैं? परिभाषा, प्रकार और उदाहरण सम्पूर्ण जानकारी!
अलंकार किसे कहते हैं? परिभाषा, प्रकार और उदाहरण सम्पूर्ण जानकारी!

दूसरे शब्दों में, जिस तरह से आभूषण शरीर को सुशोभित करते हैं, उसी प्रकार अलंकार साहित्य या कविता को सुंदर और दिलचस्प बनाते हैं।

पिछले लेख में, हमने हिंदी व्याकरण के महत्वपूर्ण विषय शब्द किसे कहते हैं, शब्द की परिभाषा, प्रकार और उदाहरण सम्पूर्ण जानकारी! और वर्ण किसे कहते हैं वर्ण की परिभाषा, प्रकार और उदाहरण सम्पूर्ण जानकारी! के बारे में अच्छे से और सम्पूर्ण जानकारी प्रदान कर चुके हैं। 

अलंकार के तीन भेद हैं।

1) शब्दालंकार

2) अर्थालंकार

3) उभयालंकार

यह भी पढ़ें-

Online earning के 11 सबसे बेहतरीन तरीके 2020- बिना कोई निवेश के

Instant Loan apps- mobile से तुरंत लोन कैसे ले 2020

Affiliate Marketing क्या है और इससे पैसे कैसे कमाए?

1. शब्दालंकार

जहाँ शब्दों के प्रयोग से सौंदर्य में वृद्धि होती है और कविता में चमत्कार होता है, वहाँ एक  शब्दालंकारअलंकार माना जाता है।

यह चार प्रकार  के हैं।

  1. अनुप्रास अलंकार
  2. श्लेष अलंकार
  3. यमक अलंकार
  4. वक्रोती अलंकार

1.अनुप्रास अलंकार

जब एक वर्ण की आवृत्ति कम से कम तीन बार दोहराई जाती है तो एक अनुप्रास अलंकार होता है।

उदाहरण:-

मुदित महीपति मंदिर आए। सेवक सचिव सुमंत्र बुलाए।

यहाँ पहले शब्द में ‘म’ वर्ण की आवृत्ति है और दूसरे में ‘स’ वर्ण की आवृत्ति है।

अनुप्रास अलंकार के तीन प्रकार हैं-

(क) छेकानुप्रास

(ख) वृत्यनुप्रास

(ग) लाटानुप्रास

2. श्लेष अलंकार

जहां एक शब्द का एक बार उपयोग किया जाता है, लेकिन भेद के संदर्भ में, इसका एक से अधिक अर्थ है,श्लेष अलंकार है।

उदाहरण:-

रहिमन पानी राखिए बिन पानी सब सून ।

पानी गए न ऊबरै मोती मानस चून  ।।

पानी के तीन अर्थ हैं: कांति, आत्म-सम्मान और जल, तथा पानी शब्द का एक बार उपयोग किया गया है इसके अर्थ तीन  है।

यह भी पढ़ें-

MPL Game क्या है, MPL 2020 कैसे Download करे और पैसे कमाए

GDP क्या है? GDP का Full Form क्या है? सम्पूर्ण जानकारी !

Digital Marketing क्या है और कैसे करें ? सम्पूर्ण जानकारी

3. यमक अलंकार

जहां शब्दों या वाक्यांशों में एक से अधिक बार आवृत्ति होती है, लेकिन उनके अर्थ पूरी तरह से अलग हैं,  यमक अलंकार होते हैं ।

उदाहरण:-

कनक-कनक से सो गुनी, मादकता अधिकाय,

वा खाय बौराय जग, या पाय बोराय।।’

कनक शब्द की दो बार की आवृत्ति है जिसमें एक कनक का अर्थ है धनुरा और दूसरा है सोना।

यह भी पढ़ें-

SSC क्या है और SSC का Full form क्या है?सम्पूर्ण जानकारी !

Online earning के 11 सबसे बेहतरीन तरीके 2020- बिना कोई निवेश के

 शब्द किसे कहते हैं, शब्द की परिभाषा, प्रकार और उदाहरण सम्पूर्ण जानकारी!

4. वक्रोती अलंकार

जहाँ किसी बात के संबंध में वक्ता और श्रोता के अर्थ में भिन्नता का बोध होता है, वहाँ वक्रोती अलंकार होती है।

उदाहरण:-

कहाँ भिखारी गयो यहाँ ते,

करे जो तुव पति पालो।

2. अर्थालंकार

वाक्य की वह पंक्ति जिसमें अर्थ के कारण चमत्कार या सौंदर्य उत्पन्न होता है, अर्थालंकार कहलाता  है।

अर्थव्यवस्था का हिस्सा –

  1. उपमा
  2. रूपक
  3. उत्प्रेक्षा अलंकार
  4. वभावना
  5. अनुप्रास

1. उपमा

जहां गुण, धर्म या कर्म के आधार पर उपमेय की तुलना उपमान के साथ तुलना की जाती है।

उदाहरण:-

हरिपद कोमल कमल से ।

कोमलता के कारण हरिपद (उपमेय) की तुलना कमल (उपमान) से की गई। तो, उपमा अलंकार है।

2. रूपक

जहां उपमान और उपमेय के बीच का अंतर समाप्त हो गया है और एक बना दिया गया है, रूपक अलंकार है।

उदाहरण:-

उदित उदय गिरि मंच पर, रघुवर बाल पतंग।

विगसे संत-सरोज सब, हरषे लोचन भृंग।।

3. उत्प्रेक्षा अलंकार

उपमेय में उपमान की कल्पना या संभावना होती है तो उत्प्रेक्षा अलंकार होता है।

उदाहरण:-

सोहत ओढ़े पीत पट, श्याम सलोने गात।

मनहु नील मणि शैल पर, आतप परयो प्रभात।।

4. विभावना

जहाँ कार्य कारण के अभाव में भी किया जा रहा है, वहाँ विभावना अलंकार है।

उदाहरण:-

बिनु पग चलै, सुनै बिनु काना ।

कर बिनु कर्म करे विधि नाना ।।

यह भी पढ़ें- Jio Internet Speed कैसे बढ़ाये सिर्फ 1 Sec में सम्पूर्ण जानकारी!

Top 10 Best Free Blogger Responsive Templates 2020

11 best ways to earn money online 2020- without investment

5. अनुप्रास अलंकार

जहाँ एक वर्ण कई बार क्रम से आवृत्ति करता है, वहाँ एक अनुप्रास अलंकार होता है।

उदाहरण:-

चारु- चन्द्र की चंचल किरणें,

खेल रही थी जल- थल में।

3. उभयालंकार 

जहाँ कविता में शब्द और अर्थ दोनों का चमत्कार एक साथ उत्पन्न होता है। वहाँ उभयालंकार है।

उदाहरण:-

मेखलाकर पर्वत अपार |

अपने सहस्त्र दृग सुमन फाड़ ||

यह भी पढ़ें- छत पर बगीचा (Roof Top Garden) कैसे बनाएं?

इस Post में, हमने आपको अलंकार किसे कहते हैं? अलंकार के कितने भेद हैं? के बारे में पूरी जानकारी दी है। आपको यह जानकारी कैसी लगी कमेंट कर के जरूर बताइये और अपने सुझाव को हमारे साथ शेयर करें ।

यदि आपको यह Post पसंद आया या कुछ सीखने को मिला तब कृपया इस पोस्ट को Social Networks जैसे कि Facebook, Twitter और दुसरे Social media sites share कीजिये। इसी तरह की सही और संपूर्ण जानकारी के लिए आप हमारे Facebook Page को लाइक करें, लाइक करने के लिए यहाँ क्लिक करें |

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Content Protection by DMCA.com
%d bloggers like this: